“MATH Pedagogy For CTET 2022: गणित शिक्षण के बेहद स्कोरिंग सवाल जो, सीटेट में हर वर्ष पूछे जाते हैं , Math Pedagogy Very Important Question”

CTET Math Pedagogy Question Answer : सीटेट 2022 की परीक्षा दिसंबर में प्रस्तावित है इसको देखते हुए सीटेट की परीक्षा में बहुत कम समय बचा है सभी छात्रों को सीटेट की परीक्षा की तैयारियां शुरू कर देनी चाहिए परीक्षा में अच्छा स्कोर लाने के लिए MATH Pedagogy Previous Year Question परीक्षार्थियों को निर्धारित पाठ्यक्रम के अनुसार अपनी पढ़ाई करनी चाहिए और पिछले वर्षों में पूछे गए MATH Pedagogy For CTET 2022 सवालों पर विशेष ध्यान देना चाहिए यह परीक्षा ऑनलाइन मोड में आयोजित की जाएगी इसलिए मॉक टेस्ट का अभ्यास बहुत जरूरी हो जाता है |

MATH Pedagogy For CTET 2022: आज हम सभी छात्रों के लिए हिंदी शिक्षण (MATH Pedagogy Question Answer) के कुछ मजेदार सवाल जो की परीक्षा में हर वर्ष पूछे जाते हैं लेकर आए हैं इन्हें ध्यानपूर्वक पढ़ें और अपनी तैयारी जांचें |MATH Pedagogy Previous Year Question paper :

MATH Pedagogy For CTET 2022: सीटेट परीक्षा में बार-बार पूछे जाने वाले गणित शिक्षण के कुछ महत्वपूर्ण सवाल यहां दिए गए हैं अभी पढ़े ।

Join Our Telegram channelJoin Now
Subscribe Our YouTube ChannelJoin Now
Join WhatsApp Group Join Now
MATH Pedagogy For CTET 2022

Q.1 . आपने कक्षा II में अपने छात्रों को “पंचपन” लिखने के कहा, उनमें से एक ने इसे 505 लिखा। गणित के शिक्षक के में, आप इसे कैसे संबोधित करेंगे?

(a) उसे डांटेंगे।

(b) उसकी कॉपी में उत्तर सही करेंगे।

(c) मूर्त सामग्री के साथ स्थानीय मान की व्याख्या करेंगे।

(d) आपकी कक्षा में आने की अनुमति नहीं देंगे।

ANS- C

Q.2 एक चित्र, प्रतीक, या संख्याओं को दर्शाते हुए या प्रतीकों का समूह है।

(a) संख्यांक

(b) संख्या

(c) उपरोक्त में से कोई

(d) भिन्न

ANS- A

Q.3 नई अवधारणा प्राप्त करते समय निम्नलिखित अधिगम की तीसरी अवस्था है?

(a) रूपक

(b) संश्लेषण

(c) विश्लेषण

(d) एककीकरण

ANS- C

Q.4 गणित की प्रकृति कैसी है?

(a) सरल

(b) कठिन

c) तार्किक

(d) सदुपयोगी

ANS- C

Q.5 बच्चों को सीखी गई गणितीय तकनीकों को समझ कर उनका उचित उपयोग करना, सिखाना चाहिए।’ यह अनुशंसा है

(a) राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 1975 की

(b) राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 1988 की

(c) राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2000 की

(d) राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 की

ANS- D

Q.6 गणित की पाठ्यपुस्तकों में ‘अभ्यास समय’ को क्यों शामिल किया गया है?

(a) पाठ को रोचक बनाने हेतु

(b) विस्तृत अधिगत का अवसर प्रदान करने हेतु

(c) दैनिक जीवन में परिवर्तन हेतु

(d) बच्चों को व्यस्त करने हेतु

ANS- B

Q.7 गणित के संकीर्ण उद्देश्यों में शामिल है

(a) संख्यात्मक कौशलों का विकास

(b) अमूर्त चिंतन का विकास

(c) बीजगणित का शिक्षण

(d) उपरोक्त सभी

ANS- A

Q.8 निम्न में से किस के द्वारा गणितीय वितन विचार को दर्शाया जा सकता है?

(a) हस्त परख प्रतिमान द्वारा

(b) मौखिक एवं लिखित भाषा द्वारा

(c) वास्तविक संसार की स्थितियों द्वारा

(d) उपरोक्त सभी

ANS- D

Q.9 प्राथमिक स्तर पर कोई विद्यार्थी गणितीय संक्रियाओं और संकेतों में अन्तर स्पष्ट करने में कठिनाई प्रदर्शित करता है। इसका कारण है:

(a) उसकी चाक्षुष-प्रक्रमण योग्यता कमजोर है।

(b) उसकी भाषा प्रक्रमण योग्यता कमजोर है।

(c) उसकी कार्यकारी स्मृति योग्यता कमजोर है।

(d) उसका पढ़ने और लिखने का कौशल कमजोर है।

ANS- A

Q.10 गणित शिक्षण में निम्न में से एन.सी.एफ-2005 की अनुशंसा है:

(a) सूत्र चाक्षुषीकरण पर

(b) सवाल का हल खोजने पर

(c) करके सीखने पर

(d) सवालों के हल रटने पर

ANS- C

Q.11 गणित शिक्षण में एक निश्चित प्रकार की सोच एवं तार्किकता विकसित करने के लिए एक गणित के शिक्षक को क्या करना चाहिए?

(a) खोजपरक उपागम का उपयोग

(b) छात्रों की व्यवहारिक क्षमताओं का उपयोग

(c) छात्रों के साथ चर्चा करना

(d) उपरोक्त सभी

ANS- D

Q.12 प्रारम्भिक कक्षाओं में एक गणितीय अवधारणा के विकास में निम्नलिखित निर्देशों का अनुक्रम किस प्रकार किया जाना चाहिए

  1. चित्र बनाना

II प्रतीकात्मक प्रतिनिधित्व का उपयोग करना

III. अनुभव प्रदान करना

IV भाषा के माध्यम से समझाना

(a) IV III, I, II

(b) III, IV, I, II

(c) IV, III, II, I

(d) III, I, II, IV

ANS- B

Q.13 रोमन अंकों का उपयोग आमतौर पर हिन्दू-अरबी अंकों जैसी संख्याओं के लेखन में क्यों नहीं किया जाता?

(a) रोमन अंक स्थानीय मान का नियोजन नहीं करते हैं, इसलिए इन अंकों का उपयोग करके गणना करना मुश्किल होता है।

(b) रोमन अंकों को याद करना मुश्किल है।

(c) रोमन अंकों का उपयोग करके संख्याओं को बनाना एक जटिल कार्य है।

(d) बच्चे अंग्रेजी वर्णमाला और रोमन अंकों में भ्रमित हो जाते हैं।

ANS- A

Q.14 गणित में प्रतिफल इसलिए विकसित किए गए हैं ताकि

(a) गणना के लिए बच्चों को लघु विधियाँ बताई जाए।

(b) विभिन्न शैक्षणिक सर्वेक्षणों में बच्चों की उपलब्धि बढ़ाई जाए।

(c) बच्चों द्वारा हासिल की जाने वाली कक्षावार दक्षता और कौशल को परिभाषित किया

(d) वर्ष के अंत परीक्षाओं के लिए बच्चों को तैयार किया जाए।

ANS- C

Q.15 बच्चों के बीच गिनती के कौशल को करने के लिए निम्नलिखित में से कौन सा पूर्व- संख्या अवधारणा के रूप में सीखने के लिए आवश्यक नहीं है?

(a) एक एक संगतता

(b) संख्या नाम यादृच्छिक रूप से पढ़ना

(c) समूह बनाना

(d) क्रमबद्धता

ANS- C

Leave a Comment

error: Only Read Content Not a Copy